Wednesday, 25 March 2020

नवरात्रि के दौरान बचें इन गलतियों को करने से


नवरात्रि के दौरान, भूलकर भी ना करें ये गलतियां

नवरात्रि आने को है 25 मार्च 2020 से नवरात्रि प्रारंभ हो रहे हैं। इसलिए हम आपको कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जो कि हम सभी भूल चूक में कर देते हैं लेकिन जिन्हें नहीं करना चाहिए। दोस्तों नवरात्रि माता रानी को प्रसन्न करने का एक पावन त्योहार है, इसे हमें हंसी खुशी मनाना चाहिए,पूजा करनी चाहिए पाठ करनी चाहिए और कुछ ऐसी बातें हैं जिनका ध्यान रखना चाहिए आइए जानते हैं वह बातें क्या हैं!!

1.जो लोग माता रानी का 9 दिन के लिए व्रत रखते हैं चौकी बैठाते हैं और कलश स्थापना करते हैैं उन्हें नाखून 9 दिन तक नहीं काटने चाहिए और ना ही अपने बाल कटाने चाहिए। पुरुषों को  अपनी दाढ़ी मूंछ नहीं कटानी चाहिए। लेकिन इन दिनों में बच्चे का मुंडन कराया जा सकता है उसे शुभ माना जाता है।

2. जो लोग कलश नवरात्रि में माता रानी का कलश स्थापित कर रहे हैं या अखंड ज्योति जला रहे हैं उन्हें अपने घर को खाली छोड़कर नहीं जाना चाहिए।

3. नवरात्रि के दिनों में बेल्ट, घड़ी, चप्पल-जूते या चमड़े का कोई सामान प्रयोग नहीं करना चाहिए और ना ही प्याज, लहसुन या मदिरा का सेवन करना चाहिए।

4. नवरात्रि के दिनों में दिन में सोना नहीं चाहिए और ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।

5. नवरात्रि के दौरान अगर कोई स्त्री मासिक धर्म से हो तो उसे ना तो व्रत रखना चाहिए, ना हीं पूजा करनी चाहिए। कुछ स्त्रियां व्रत कर लेती हैं लेकिन यह सही नहीं है।

6. नवरात्रि के दौरान किसी भी स्त्री या बालिका का अपमान नहीं करना चाहिए। सभी महिलाओं का सम्मान करना चाहिए और किसी का भी दिल नहीं दुखाना चाहिए। हालांकि  नवरात्रि में ही नहीं,महिलाओं को सम्मान हमेशा करना चाहिए।

7. जो लोग अखंड ज्योति जलाते हैं,उनके लिए जमीन पर सोने का विधान है लेकिन अगर आपको कोई परेशानी है या आप जमीन पर नहीं सो पाते हैं तो आप साफ बिस्तर पर भी सो सकते हैं।

8.अखंड ज्योत या कोई भी धार्मिक अनुष्ठान अपने ही पैसों से करना चाहिए अगर आपकी सामर्थ्य नहीं है तो उधार लेकर धार्मिक अनुष्ठान या अखंड ज्योति ना जलाएं।

9.नवरात्रि के दिनों में अगर आपने व्रत रखा हुआ है तो नींबू ना काटे और काले कपड़े भी ना पहनें।

10. अगर हो सके तो भंडारे में कुछ पैसे दान दें और हो सके तो मां के मंदिर में एक बार ही जाए लेकिन कुछ देर बैठ कर आए क्योंकि उस समय वहां पर सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह रहता है जो कि आपको प्रसन्नता देगा।
Share This
Latest
Next Post

Pellentesque vitae lectus in mauris sollicitudin ornare sit amet eget ligula. Donec pharetra, arcu eu consectetur semper, est nulla sodales risus, vel efficitur orci justo quis tellus. Phasellus sit amet est pharetra

0 comments: